शनि साल 2018 में धनु राशि में है | यह पूरे वर्ष इसी राशि में उपस्थित  रहकर अपनी दशा बदलते  रहेंगे  | 


वैदिक ज्योतिष के अनुसार - 18 अप्रैल 2018 (बुधवार) को प्रातः 7:10 बजे  से ले कर   06 सितंबर 2018 (गुरुवार) को सायं 05:02 बजे   शनि धनु राशि में ही वक्री होगा  औरइसके बाद इसी राशि में ही मार्गी होगा। शनि वक्री की अवधि कुल 142 दिनों की रहेगी। 

आईये जानते है कि शनि के वक्री होने पर द्वादश राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।  

मेष

  • इस राशि में शनि दशम एवं एकादश भाव का स्वामी होकर भाग्य भाव में गोचर करेगा।
  • शनि के नवम भाव में स्थित रहने से मेष राशि वाले जातकों के करियर की रफ्तार धीमी रहेगी।
  • कार्य स्थल पर तनाव और चुनौती का सामना करना पड़ सकता है, इस दौरान धैर्य से काम लें। बनते हुये कार्यो में रूकावटें आयेंगी। इस समय आपको कठिन परिश्रम की आवश्यकता होगी। 
  • जून तक आपके करियर में धीमी गति से उन्नति होगी और फिर उसके बाद अक्टूबर तक करियर में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।
  •  इस समय धन निवेश करने में सावधानी बरतने की आश्यकता है। 
  • रोग से सावधान रहने की जरूरत है। 

वृषभ

  • शनि इस समय आपके अष्टम भाव में गोचर कर रहा है, जिसकी तृतीय दृष्टि दशम भाव पर पड़ रही है,शनि की क्रूर दृष्टि आपके पारिवारिक जीवन पर पड़ेगी।
  • बच्चों की शिक्षा अथवा प्रेम संबंधी मामलों के लिए आपको एक कारगर व्यवस्था बनाने की आवश्यकता होगी।
  • कार्यक्षेत्र में सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।
  • किस्मत आपके साथ आँख-मिचोली का खेल खेलेगी। इस दौरान आपको अचानक अप्रत्याशित हानि हो सकती है। 
  • कैरियर व व्यवसाय में अड़चने उत्पन्न हो सकती है। उत्साह में कमी बनी रहेगी।

 

मिथुन

  • इस समय शनि आपके सप्तम भाव में होकर वक्री है, जिसकी सीधी सप्तम दृष्टि लग्न पर पड़ रही है।
  • शनि का अशुभ प्रभाव आपके दांपत्य जीवन पर देखने को मिलेगा। इस दौरान आपके वैवाहिक जीवन में कुछ परेशानियां आ सकती हैं। 
  • इस वर्ष आप किसी नए स्थान पर बसने के बारे में सोच सकते हैं। सामाजिक जीवन में भी आपको लाभ मिलेगा। 
  • इस वर्ष आपको कई शुभ समाचार मिलेंगे।
  •  जीवन साथी से अनबन के कारण मानसिक तनाव रह सकता है। वाहन चलाने में सावधनी बरतें वरना दुर्घटना घट सकती है।
  • आप अपने कार्यक्षेत्र में कठिन परिश्रम करेंगे। इसकी बदौलत कार्य स्थल पर आपका मान-सम्मान बढ़ेगा।

 

कर्क

  • शनि आपके छठें भाव यानि रोग भाव में बैठकर वक्री हो रहा है, जिस कारण अचानक समस्याए आ सकती है| 
  • बच्चों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  •  लंबी दूरी की यात्रा के योग हैं। 
  • इस समय बड़े-बुजुर्गों का सम्मान करें। 
  •  रोग में वृद्धि व शादी-शुदा लोगों का किसी अन्य से प्रेम-प्रसंग हो सकता है।
  • किसी भी अनैतिक अथवा ग़ैरक़ानूनी मामलों में न पड़ें। अन्यथा जेल जाने की नौबत आ सकती है।

 

सिंह

  • शनि छठें व सातवें भाव का मालिक होकर पाॅचवें भाव में गोचर कर रहा है। 
  • अविवाहित  जातको  के लिए इस साल लव मैरिज के योग बन रहे हैं हालांकि कुछ चुनौतियां भी सामने आएंगी | 
  •  शनि की यह स्थिति आपके वैवाहिक जीवन को प्रभावित करेगी। 
  • शनि के वक्री होने से जीवन साथी से तनाव हो सकता है | 
  • कार्य व व्यवसाय को लेकर टेंशन, खर्चो में वृद्धि, लाभ में कमी आदि समस्याए बनी रह सकती है।
  • धन का ख़र्च सोच-समझकर करें। आर्थिक प्रबंधन इसके लिए बेहतर रहेगा।  

 

कन्या

  • शनि पाचवें व छठें भाव का स्वामी होकर चौथा भाव में गोचर कर रहा है। 
  •  शनि के वक्री होने से रोग में वृद्धि,  कार्यो में बाधायें  आ सकती है | 
  •  सन्तान को लेकर कष्ट आदि प्रकार की समस्यायें बनी रह सकती है।
  •  इस साल आप अपना निवास स्थान बदलने के बारे में सोच सकते हैं।
  •  कार्य स्थल पर आपके प्रयास सार्थक नहीं हो पाएंगे, ऐसे में निराश न हों। सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। 
  • परिवार में ज़मीन-जायदाद संबंधी विवाद भी हो सकते हैं।

 

तुला

  •  शनि आपके तीसरे भाव में गोचर कर रहा है | 
  •  शनि के वक्री होने से मानसिक तनाव हो सकता  है | 
  • छोटी या लंबी दूरी की यात्रा पर जाने की संभावना बन रही है। यह यात्रा आपके लिए लाभकारी रहेगी । 
  •  घरेलू कार्यो में देरी होने से जीवन साथी से तनाव | 
  • छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने का अवसर मिलेगा । 
  • साल 2018 में शनि गोचर के प्रभाव से आपकी आमदनी में वृद्धि होने की संभावना है ।
  • माता के स्वास्थ्य में कमी बनी रहेगी । 

 

वृश्चिक

  • शनि आपके दूसरे भाव में गोचर कर रहा है। 
  • वाहन सुख में कमी, माता का स्वास्थ्य प्रभावित होगा | 
  • नौजवान वाहन सावधानी से चलायें वरना दुर्घटना घट सकती है।
  •  कुछ लोगोें के परिर्वत के योग भी बन रहें है। कठिन परिश्रम से अच्छे नतीजे मिलेंगे।
  • आपका स्वास्थ्य भी कमजोर पड सकता है  | 
  • परिजनों के साथ आपके रिश्ते मधुर होंगे।  आपकी आमदनी में वृद्धि की संभावना है।

 

धनु

  • इस समय शनि आपके लग्न में गोचर कर रहा है।
  •  शनि के वक्री होने से जीवन साथी से नोंक-झोक, आत्म बल में कमी, कैरियर व व्यसाय में उलझने, व्यर्थ की यात्रायें आदि समस्यायें बनी रहेगी।
  • इस समय आपको मानसिक तनाव और समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।
  •  पारिवारिक जीवन में आपके भाई-बहनों को खुशियां और समृद्धि प्राप्त होगी। 
  • जीवनसाथी को सम्मान दें और उनकी भावना का आदर करें।
  •  इस समय आपके ऊपर काम का बोझ रहेगा जिस कारण आप अपने पारिवारिक जीवन को कम समय दे पाएंगे।

 

मकर

  • इस समय शनि आपके 12वें भाव में  वक्री हो रहा है।  वाणी पर नियन्त्रण बनायें रखें। 
  • परिवार में किसी से अनबन हो सकती है। 
  • आय की अपेक्षा व्यय अधिक रहेगा जिससे मन परेशान रहेगा।
  • स्वास्थ्य संबंधी समस्या परेशान कर सकती है।
  •  विदेश यात्रा के योग भी बन रहे हैं। विदेश से सफलता मिलने के योग हैं।  
  •  कानूनी मामले और विवादों का सामना करना पड़ सकता है।

 

कुंभ

  • वर्तमान में शनि आपके लाभ भाव में वक्री हो रहा है।
  • शनि की यह स्थिति आपके लिए अनुकूल होगी।
  •  बेहतर ज़िंदगी को लेकर जो सपना आपने देखा था वो इस साल पूर्ण हो सकता है। 
  • आपकी आमदनी में वृद्धि होगी।  कार्य स्थल पर हर वक्त अच्छे अवसर मिलेंगे।
  • प्रेमी वर्ग इस दौरान संयम बनायें रखें वरना छोटी समस्या बड़ी समस्या का रूप ले सकती है। 
  • आर्थिक लेन-देन में सावधानी बरतें।
  •  तनाव से बचने के लिए नियमित रूप से योग और प्राणायाम करें।

 

मीन

  •  इस समय शनि आपके 10वें भाव में गोचर कर रहा है।
  •  वक्री होने से खर्चे बढ़ेगे एवं अस्पताल का आना लगा रह सकता है। 
  •  काम के सिलसिले में विदेश यात्रा पर जा सकते हैं।
  • नींद व शयया सुख में कमी आयेगी। वाहन छति हो सकती है। 
  • इस साल आपकी आय में कमी आ सकती है और ख़र्च में अधिक वृद्धि की संभावना है |
  • आप नई नौकरी के बारे में सोच सकते हैं। 
  • प्रेम सम्बन्धों में तनाव हो सकता है।

 

Comments
Comments
Ashok Chandra Agarwal Mera date of birth 04041972 hai time 10.22am place Durgapur west Bengal mera future bstaye
Reply 2018-04-18 16:28:34.0

Latest Post