हर मनुष्य की JANAM PATRI / KUNDLI मे कोंई न कोई ग्रह शुभ और अशुभ  (MARAK OR KARAK)होते है औंर जिसके कारण ही उनके भाग्य में परिवर्तन आता रहता है।अशुभ ग्रहों को शुभ बनाना या शुभ ग्रहों को और अधिक शुभ बनाने की मनुष्य की सर्वदा चेष्टा रही है। इसके लिए मनुष्य अनेक उपाय करते हैं, जैसे मंत्र जाप, दान, औषधि स्नान, रत्न धारण, धातु एवं यंत्र धारण, देव दर्शन आदि। 

लेकिन मनुष्य के लिए रत्न को धारण करना एक महत्वपूर्ण एवं असरदार उपाय है।

क्यूंकि रत्नो में एक विशेष प्रकार की शक्ति होती है|

 यह बात हम सभी जानते हैं और बहुत बार स्पष्ठ अनुभव भी करते हैं। वास्तव में रत्नो का जो हम पर प्रभाव पड़ता है वह ग्रहों के रंग व उनके प्रकाश की किरणों के कम्पन्न के द्वारा पड़ता है। हमारे प्राचीन ऋषियों ने अपने अनुशंधान, अनुभव, तपोबल व दिव्यदृष्टि से ग्रहों के रंग को जान लिया था और उसी के अनुरूप उन्होंने ग्रहों के रत्न निर्धारित किये।लेकिन आप हमेशा इसी दुविधा में रहता है की कब कौन सा रत्न किस धातु में कैसे धारण करें जिससे की हम जीवन में ज्यादा से ज्यादा तरक्की कर सके पर समस्या यही है की कौन सा रतन तरक्की देगा ?किसे पहनने से लाभ होगा ? 

रत्न धारण करने के लिए हमेशा कुंडली का सही निरिक्षण अति आवश्यक है ! यदि हम ऐसा नहीं करते तो रतन को धारण करना नुक्सान दायक हो सकता है।


क्यंकि हर रत्न किसी विशेष परेशानी या किसी खास मकसद से ही धारण किया जाता है।
क्यूंकि किसी भी ग्रह का रत्न धारण करने से उस ग्रह की शक्ति बढ़ जाती है अर्थात जिस ग्रह से सम्बंधित रत्न पहना है आपकी कुंडली का वह ग्रह बलवान बन जाता है उससे मिलने वाले तत्वों में वृद्धि हो जाती है परन्तु हमारी कुंडली में सभी ग्रह हमें शुभ फल देने वाले नहीं होते।


 कुछ ग्रह हमारी कुंडली के अशुभ कारक ग्रह होते हैं और उनकी भूमिका हमें समस्या, संघर्ष और कष्ट देने की ही होती है अब यदि ऐसे ग्रह का रत्न धारण कर लिया जाये तो वह अशुभ कारक ग्रह भी बलवान हो जायेगा जिससे वह और अधिक समस्याएं देगा।


इसलिए हमे  रत्न धारण में हमारी जन्मकुंडली की लग्न का ही महत्व होता है कुंडली के लग्नेश और लग्नेश के मित्र ग्रह जो त्रिकोण(1,5,9) के स्वामी भी हों उन्ही 
ग्रहों का रत्न धारण किया जाता है।क्यंकि रत्न दोधारी तलवार की तरह होते हैं जिन्हें उचित जांच परख के बाद ही पहनना चाहिए अन्यथा सकारात्मक की जगह नकारात्मक परिणाम भी देते हैं.
आज कल ग्रहों की पीड़ा से मुक्ति के लिए रत्न पहनने का प्रचलन बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है|


क्योकि जो लोग इन रत्नों को धारण कर रहे है उन्हें जीवन के हर क्षेत्र में लाभ मिल रहा है चाहे व्यवसाय, पढाई, बीमारी या तरक्की क्यों न हो सभी क्षेत्रो में रत्न का विशेष महेत्व है|आपको जानकर हैरानी होगी की हमारे कई बॉलीवुड स्टार्स ने ये रत्न धारण किए हैं।अपनी किस्मत चमकाने के लिए या फिर किसी खास सफलता को हासिल करने के लिए।जैसे की ‘बिग बी’ अमिताभ बच्चन ने दो रत्न पहने हुए हैं। उनके दाहिने हाथ में नीलम है और बाएं हाथ में बिग बी ने पन्ना पहना हुआ है। जो भी इसे पहनता है यह रत्न उसे राजा बना देता है।

उदाहरण तो आप देख ही सकते है बिग बी,सलमान खान के दाहिने हाथ में पहना हुआ ब्रेस्लेट आपने देखा होगा दरअसल यह कोई साधारण ब्रेस्लेट नहीं है, बल्कि इस ब्रेस्लेट में एक खास रत्न ‘फिरोजा’ जड़ा हुआ है।

कहा जाता है कि सलमान खान इसे अपना लकी रत्न मानते हैं क्योंकि जबसे इन्होंने इस रत्न को धारण किया है तबसे बॉलीवुड में इन्होंने एक के बाद एक कामयाब फि रल्मों की लाईन लगा दी है।
 ASTROLOGER तो यहां तक दावा करते हैं कि रत्‍न धारण करने से जिंदगी ही बदल जाती है।
लेकिन रतन हमे अपनी कुंडली के दशा और महादशा के अनुसार ही धारण करना चाहिए और रतन धारण करने से पहले ये जानना भी जरूरी है कि हमे रत्न किस ऊँगली में किस धातु के साथ किस मुहूर्त में और कितनी रत्ती का कैसे पहनना है |


क्यूंकि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार प्रत्येक रत्न किसी खास धातु के लिए ही बना है। यदि किसी रत्न को गलत धातु में बनवा लिया जाए, तो या तो उसका असर नहीं होता या फिर कई बार वह गलत प्रभाव भी छोड़ जाता है।क्योंकि आपकी कुंडली किस ग्रह के बुरे प्रभाव को कम करना चाहती है, और पहनी हुई धातु उसके लिए काम आएगी या नहीं, यह जानना बहुत जरूरी होता है.  इसका भी प्रभाव होता है। मोती को चांदी में पहनना चाहिए। वहीं हीरा, पन्ना, माणिक,नीलम,पुखराज जैसे रत्‍न सोना में पहनना चाहिए और लहसुनिया, गोमेद पंचधातु में पहनने से अधिक लाभ होता है |


रत्न को धारण करने के लिए आवश्यक है कि पहली बार पहनते समय शुभ मुर्हूत हो एवं चंद्र बली हो, समय, वार एवं नक्षत्र रत्न के अनुकूल हों |

 

Comments
Comments
चुन्नीलाल नमस्ते सर मुझे कौनसा रत्न पहनना चाहिए लाईफ सेट नही बिजनेस भी सेट नही
Reply 2018-08-22 20:43:31.0
Susanta mal Mera birthday 22-04-1979 time 9pm birthday place 24pargana bishnupur Kolkata mai bhaut salo se Steagall kare Raha hu business nahi kar pa raha hu tabiyat kharab raitha hai kuch upai bataye
Reply 2018-06-24 04:04:35.0
mahesh 25/04/1984(08:55am) Mumbai खूद का घर कब बनेगा
Reply 2018-05-04 19:46:52.0
Vinod Vinod kumar 6 2 76 time 8.14 pm place karnal mere liye kon sa ratan uchit rahega bhagay uday or health k liye
Reply 2018-04-20 12:51:28.0
Prakash mane My DOB 9/1/1965 Birth Time 12:05pm Mumbai suburban pls say me which gemstone sut in my life
Reply 2018-04-19 20:49:08.0
Prakashmane When u send me
Reply | 2018-04-20 19:42:10.0

Latest Post