आज हम बात क्र रहे है योगिनी दशा (yogini dasha ) की जन्म कुंडली( janam kundli ) में योगिनी दशा का अत्यधिक महत्वपूर्ण स्थान होता है।

बिना योगिनी दशा के भविष्यवाणी की सफलता में संदेह बना रहता है।

अतः आपको अपनी शुभ-अशुभ योगिनी की जानकारी होना चाहिए, तथा अशुभ योगिनी की शांति तुरंत करवाना चाहिए, क्योंकि यह प्रारंभ में ही कष्ट देना शुरू कर देती है।

योगिनी महादशा (Mahadasa ) का एक सम्पूर्ण चक्कर 36 वर्ष में पूरा करती है |

जिसमे की मंगला की 1 वर्ष, पिंगला की 2 वर्ष, धान्या की 3 वर्ष, भ्रामरी की 4 वर्ष , भद्रिका की 5 वर्ष, उल्का की 6 वर्ष , सिद्धा की 7 वर्ष व संकटा की 8 वर्ष की दशा होती है |

जिसमे की मंगला, धान्या, भद्रिका व् सिद्धा दशाएं लाभकारी, और पिंगला, भ्रामरी, उल्का व Sankta Dashaye अनिष्टकारी होती हैं |

हर मनुष्य के जीवन में कम से कम yogini dasha के तीन चक्कर की दशाये चलती ही है,क्यूंकि विंशोत्तरी दशा (vimshottari dasha) के अनुसार मनुष्य की आयु 120 वर्ष मानी गयी है |

इस प्रकार ये आठों योगिनियां आपके भविष्य को प्रभावित करती हैं। और जब भी इनकी दशाएं चलती है तो ये आपके जीवन में बहुत प्रभाव डालती है |

  • जैसे की अगर आपकी kundli में मंगला (mangla) योगिनी दशा की दशा चलती है, तो ये दशा 1 वर्ष की होती है। इस समय आपको सफलता, यश, धन एवं अच्छे कार्यों से प्रशंसा प्राप्त होती है।
  • अगर आपकी कुंडली में पिंगला(pingla) योगिनी दशा की दशा चलती है, तो ये दशा 2 वर्ष की होती है। इसमें जमीन-जायदाद, भाई-बंधु की चिंता, मानसिक कष्ट, अशुभ समाचार, हानि-अपमान, बीमारी से कष्ट आदि होते हैं।
  • अगर आपकी कुंडली में धान्या(dhanya) योगिनी दशा की दशा चलती है, तो ये दशा 3 वर्ष की होती है।इसमें धन प्राप्ति के योग होते हैं। और और राजकीय कार्यों में सफलता प्राप्त होती है।
  • अगर आपकी kundli में भ्रामरी (Bhramri) योगिनी दशा की दशा चलती है, तो ये दशा 4 वर्ष की होती है।इसमें आपको 4 वर्ष तक अशुभ यात्रा, कष्ट, व्यापार में हानि, कर्ज की चिंता आदि अन्य अशुभ कार्य भ्रामरी के कारण होते हैं।
  • अगर आपकी kundli में भद्रिका (Bhadrika) योगिनी की दशा चलती है तो ये दशा 5 वर्ष की होती है। इसमें आपको धन-संपत्ति का लाभ होता है। सुंदर स्त्रियों एवं सुखोपभोग की प्राप्त होती है। राजकीय कर्मचारी को पदोन्नति प्राप्त होती है।
  • अगर आपकी कुंडली में Ulka Yogini की दशा चलती है तो ये दशा 6 वर्ष की होती है।इसमें आपको नाना प्रकार के कष्टों से परेशान हो जाता है। मानहानि, शत्रु भय, ऋण, रोग, कोर्ट केस, पारिवारिक कष्ट, मुंह, सिर, पैर में रोग होते हैं।
  • अगर आपकी kundli में सिद्धा (Siddha) योगिनी की दशा चलती है तो ये Dasha 7 वर्ष की होती है। इसमें आपके बु़द्धि, धन, व्यापार में वृद्धि होती है, घर में विवाह आदि कार्य होते हैं।
  • अगर आपकी kundli में संकटा (Sankata) योगिनी की दशा चलती है तो ये दशा 8 वर्ष की होती है। इसमें आपको धन, बल, व्यापार, परिवार से संबंधित नाना प्रकार के कष्ट प्राप्त होते है। अपने ही जनों का विसंयोग होता है.

इस प्रकार ये आठों योगिनियां जातक के भविष्य को प्रभावित करती हैं। इनमे से कोई सिद्धिदायनी है, कोई मंगलकारक है, कोई कष्टकारी है और कोई सफलता प्रदायक है.जीवन की सफलता के लिए इन Dashao की साधना क्र ली जाए तो यह बहुत भाग्यशाली सिद्ध होता है.

अगर आप भी इन सब समस्याओं से परेशान है तो अभी अपनी yogini dasha निकलवाये और उनकी शांति करवाए.

Comments
Comments
Vijay D.o.b.:19/12/80 t.o.b.:16-45 p.o.b.:dhari Gujarat. (Q) meri health achi nahi raheti hai to meri aayushya kitni hai sir?
Reply 2018-05-04 21:37:53.0
pankaj Nice information
Reply 2018-05-04 12:59:49.0
shilpi I like your article. It is very interesting as informative. I always prefer and appreciate this type of post which is really beneficial for the people.
Reply 2018-05-04 12:08:26.0
Ravina Namaskar Sir, App ki di gayi Maha dasha ki report , bahut achi hau.
Reply 2018-04-27 11:30:19.0
DIBYENDU GUHA Financial condition bohut kharap . Khane ki paysa ne hi jai .
Reply 2018-04-26 19:50:05.0

Latest Post